अमेरिकी सांसद ने बढ़ाए भारत की ओऱ मदद के हाथ, बाइडन प्रशासन से किया वैक्सीन की खेप जारी करने का आग्रह

0
5


वाशिंगटनः अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद ने सोमवार को बाइडन प्रशासन से एस्ट्राजेनेका के कोविड-19 टीके की खेप तत्काल भारत को भेजे जाने का अनुरोध किया. सांसद टॉम मालिनोव्स्की ने ऑक्सीजन उत्पादन और भंडारण उपकरण के साथ ही वेंटिलेटर भारत भेजे जाने के लिए रक्षा विभाग समेत अमेरिका के हरसंभव संसाधनों को सक्रिय करने की भी सरकार से अपील की.

भारत की ओर बढ़ाए मदद के हाथ

सांसद ने कहा, ‘ मैंने अमेरिका के पास उपलब्ध (जिसका अमेरिका उपयोग नहीं करेगा)डब्ल्यूएचओ की ओर से मंजूर एस्ट्राजेनेका टीके को तत्काल भारत और अन्य देशों को भेजे जाने का आह्वान किया.’ भारत कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है और यहां बीते कुछ दिनों से रोजाना तीन लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. अस्पतालों में चिकित्सीय ऑक्सीजन, बिस्तरों की काफी कमी है.

दुनियाभर में 15 करोड़ से ज्यादा संक्रमित

बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण से अभीतक 15 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं. अभीतक दुनियाभर में कोरोना संक्रमित होने वालों का आंकड़ा 15 करोड़ 40 लाख के पार पहुंच गया है. जिसमें से 32 लाख संक्रमितों की जान चली गई है. वहीं कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में अमेरिका पहले स्थान पर जहां अभी तक 3 करोड़ 32 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित सामने आए हैं.

भारत में 2 करोड़ के पार हुआ आंकड़ा

वहीं भारत कोरोना वायरस संक्रमित देशों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर है. जहां कोरोना संक्रमण के मामले बढ़कर 2 करोड़ के आंकड़े के पार पहुंच गए हैं. भारत में कुल संक्रमितों की संख्या अब दो करोड़ दो लाख 37 हजार के पार पहुंच गई है. वहीं अब देशभर में तकरीबन दो लाख 21 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमितों की मौत भी हुई है. फिलहाल एक करोड़ 65 लाख 62 हजार से ज्यादा लोग इलाज के बाद ठीक भी हुए हैं. वहीं वर्तमान में 34 लाख 53 हजार से ज्यादा कोरोना एक्टिव लोगों का इलाज किया जा रहा है.

 

इसे भी पढ़ेंः
राजस्थान: कूड़ा उठाने वाले वाहन में सांप्रदायिक ऑडियो चलाने के आरोप में दो गिरफ्तार

 

Corona vaccination: 18-44 आयुवर्ग के 2.15 लाख से अधिक लोगों को मिली पहली खुराक



Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here