First Aid: आसमान से बिजली गिरने पर क्या करें, कैसे बचाएं किसी की जिंदगी, जानें बचाव


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार यानी 11 जुलाई 2021 को राजस्थान, उत्तर प्रदेश समेत कई जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने (वज्रपात) की घटना हुई. जिसमें कई लोगों की जान चली गई. आसमान से बिजली गिरना एक बेहद गंभीर घटना है, जो कि जानलेवा है. लेकिन अगर पीड़ित को सही समय पर सही इलाज मिल जाए, तो ना जाने कितनी जानें बचाई जा सकती हैं.

मानसून में बादलों और जमीन के बीच या कभी-कभी बादलों के बीच असंतुलित इंलेक्ट्रिकल डिस्चार्ज होने पर बिजली गिरती है. आइए, जानते हैं कि किसी इंसान पर बिजली गिरने के बाद क्या करना चाहिए और कैसे बचाव करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: डायबिटीज के मरीजों के लिए क्यों खतरनाक है बारिश का मौसम, बेहद जरूरी हैं ये टिप्स

किसी इंसान पर बिजली गिरने के बाद क्या करें? (First aid for lightning victim)
आईएमडी (भारतीय मौसम विज्ञान विभाग) के नागपुर केंद्र की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, अगर किसी इंसान पर बिजली गिर जाए, तो इन कदमों को उठाना चाहिए.

  1. सबसे पहले जान लें कि जिस इंसान पर आकाशीय बिजली गिरी है, उसे छूना पूरी तरह सुरक्षित है.
  2. बिजली गिरने के बाद हार्ट अटैक आने से व्यक्ति की मौत होती है. इसलिए सबसे पहले जांचें कि पीड़ित की धड़कन और सांसें चल रही हैं या नहीं.
  3. अगर व्यक्ति की सांस नहीं चल रही है, तो अपने मुंह से उसके मुंह में सांस (सीपीआर) दें. वहीं, धड़कन रुक जाने पर सीपीआर के साथ छाती जोर-जोर से दबाएं.
  4. बिजली गिरने पर व्यक्ति की हड्डियां टूट सकती हैं या फिर उसे दिखना या सुनना बंद हो सकता है. इसलिए इन चीजों की जांच कर लें.
  5. एक ही जगह पर दो बार बिजली गिर सकती है, इसलिए अगर आप ऐसी जगह हैं, जहां वज्रपात होने का ज्यादा खतरा है, तो वहां से मरीज को तुरंत हटा लें.
  6. जितनी जल्दी हो सके, मरीज को चिकित्सीय मदद उपलब्ध करवाएं.

ये भी पढ़ें: 20 साल की उम्र में जरूर पता होनी चाहिए ये बातें, हर किसी के लिए हैं जरूरी

आसमान से बिजली गिरने का बचाव कैसे करें? (Precautions for lightning strike)
अगर मौसम खराब है और बिजली गिरने की आवाज आ रही है, तो निम्नलिखित कदम उठाएं.

  1. मौसम खराब होने या बिजली गिरने की आवाज सुनने पर घर से बाहर ना निकलें.
  2. आखिरी बार बिजली की आवाज सुनने के 30 मिनट बाद ही घर से निकलें.
  3. ऊंची जगहें, पहाड़, चोटी, ब्रिज आदि से उतर जाएं या घर में शरण लें. बड़े पत्थर के नीचे खड़े ना हों.
  4. जमीन पर लेटे नहीं, बल्कि जमीन पर बैठकर अपने सिर को घुटनों के बीच में रखें और दोनों हाथों से पैरों को पकड़ लें.
  5. एक साथ बहुत सारे लोग खड़े ना हों. दूर-दूर खड़े हों.
  6. अगर मौसम खराब होने के साथ आपकी गर्दन के पीछे के बाल या रोंगटे खड़े हो रहे हैं, तो समझिए कि बिजली गिरने की आशंका है.
  7. मोबाइल या किसी अन्य इलेक्ट्रिकल डिवाइस का इस्तेमाल ना करें.
  8. किसी खंबे, लोहा या तार के पास खड़े ना हों.
  9. घर के खिड़की-दरवाजें बंद कर लें. वहीं, घर के सारे बिजली उपकरण बंद कर लें.
  10. बाइक, साइकिल से उतर जाएं और अगर कार में हैं, तो उसी में रहें. अगर शरण लेने के लिए कोई घर या पक्की छत नहीं मिल जाती.
  11. पानी वाली जगह पर ना जाएं.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी गई है.





Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *