IAS Success Story: कभी अंग्रेजी बनी थी रुकावट, फिर हिंदी में इंटरव्यू देकर हासिल की सफलता


Success Story Of IAS Topper Dalip Kumar: यूपीएससी की परीक्षा का सफर हर किसी का अलग-अलग होता है. लेकिन सभी कैंडिडेट्स के बीच एक चीज बिल्कुल एक समान होती है और वो है कड़ी मेहनत. इस परीक्षा को पास करने के लिये आपको लगातार पढ़ने और सही रणनीति से तैयारी करने की आवश्यकता होती है. लेकिन आज हम आपको जिस कैंडिडेट की कहानी बताने जा रहे हैं, सच में वह प्रेरणादायक है. दिलीप कुमार दो बार साक्षात्कार तक पहुंचे. लेकिन उनके नंबर काफी कम आए. ऐसे में उन्होंने अपनी खामियों को दूर करते हुए तीसरे प्रयास में बेहतर योजना बनाई. इस बार उन्होंने इंटरव्यू अंग्रेजी की जगह हिंदी भाषा में देने का फैसला किया. उनकी सफलता रंग लाई और साल 2019 में दिलीप कुमार ने यूपीएससी परीक्षा में 73वीं रैंक हासिल की और अपने आईएएस बनने के सपने को साकार किया.

माध्यम से नहीं पड़ता है अंकों में फर्क 
दिलीप कहते हैं कि इंटरव्यू के दौरान आप किस भाषा का प्रयोग करते हैं इस बात से अंकों पर कोई असर नहीं होता है. आप जिस भाषा में खुद को सहज महसूस करते हैं उस भाषा में इंटरव्यू दें. इंटरव्यू में आपका सटीक उत्तर महत्व रखता है न कि भाषा. आप इंटरव्यू के बीच में अंग्रेजी के कुछ शब्द का इस्तेमाल कर सकते हैं.

नहीं कर पाते थे खुद को अंग्रेजी में अच्छी तरह जाहिर 
दिलीप की स्कूलिंग हिंदी मीडियम स्कूल में हुई. वह हिंदी भाषा में खुद को अच्छे से जाहिर कर लेते थे. इस कारण उन्होंने पिछली गलतियों से सीखते हुए तीसरी बार में इंटरव्यू के दौरान हिंदी का चयन किया. दिलीप अपने पहले दो इंटरव्यू के दौरान अच्छी तैयारी करके जाते थे लेकिन संवाद बाधा बन जाता था.

यहां देखें दिलीप द्वारा दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिए इंटरव्यू का वीडियो 

अन्य कैंडिडेट्स को दिलीप की सलाह
दिलीप दूसरे कैंडिडेट्स को सलाह देते हैं कि कभी भी इंरटव्यू के दौरान बोर्ड के सामने ब्लफ न करें. क्योंकि अगर आप ऐसा करते हैं तो तुरंत पकड़े जाएंगे क्योंकि वहां बैठे अनुभवी तुरंत चीजों को समझ जाते हैं. अपनी हॉबीज आदि के विषय में सोच समझकर लिखें. वे इन चीजों के बारे में आपसे सवाल कर सकते हैं. जवाब देते वक्त बैलेंस्ड एटीट्यूड अपनाएं.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI



Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *