Immunity Booster होती है चौलाई, जानें इसके पांच फायदे

0
10


नई दिल्ली: चौलाई स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी काफी कारगर होती है. चौलाई में मौजूद तत्व आपके शरीर के लिए काफी लाभदायक हो सकते हैं. कोरोना संक्रमण के दौरान भी चौलाई रामबाण साबित हो सकती है. 

आयुर्वेद के जानकारों के मुताबिक चौलाई में प्रोटीन, विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी, आयरन, और कैल्शियम भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं. आईए जानते हैं चौलाई के फायदों के बारे में…

Immunity Booster होता है कटहल, जानें इसके 5 फायदे

इम्यूनिटी को करती है बुस्ट
चौलाई में भरपूर मात्रा में प्रोटिन और विटामिन सी पाया जाता है, जो हमारे शरीर में इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है. संक्रमण रोगों से हमें बचाती है. कोरोना काल में डॉक्टर भी प्रोटीन और विटामिन सी का सेवन करने की सलाह देते हैं. कोविड-19 के समय आपके लिए चौलाई एक अच्छा विकल्प हो सकता है. 

Immunity Booster है ये जलेबी जैसा दिखने वाला फल, जानें इसके 5 फायदे

सर्दी-खांसी में है मददगार 
चौलाई का साग सर्दी-खांसी और जुकाम में भी फायदेमंद होता है. इसमें पाए जाने वाले तत्व रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का कार्य करते हैं. चौलाई में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी और खनिज होते हैं. जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक करते हैं.

ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने में सहायक है पीपल का पत्ता, जानें इसके चमत्कारी फायदे

पेट के लिए फायदेमंद 
चौलाई पेट के लिए काफी फायदेमंद होती है. यह पाचन तंत्र को मजबूत करने का काम करती है. इसमें पाया जाने वाला तत्व हमारे पाचन एंजाइमों को सक्रीय बनाता है. इसके अलावा यह हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालने का काम करत है.

शरीर को करती है एक्टिव 
चौलाई में लाइसिन प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है. यह कैल्शियम को अवशोषित करने में शरीर की सहायता करता है. जिससे थकान दूर होता है. आप दिन भर एनर्जेटिक महसूस करते हैं. 

वजन कम करने में सहायक 
चौलाई वजन कम करने में भी सहायक होती है. शरीर में इंसुलिन के लेवल को कम करने का काम करती है. चौलाई के सेवन से भूख नहीं लगता है. इसलिए यह मोटापे से परेशान लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है. 

कैसे करें चौलाई का इस्तेमाल?
भारत में चौलाई का इस्तेमाल साग के रूप में किया जाता है. इसके अलावा चौलाई के जूस को भी लोग खूब पसंद करते हैं. 

VIDEO: जंगली पशु कर देते थे फसल बर्बाद, किसान ने इजाद किया देसी जुगाड़

नोटः इस आलेख में दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. हम इसकी पुष्टि नहीं करते. इन पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें. 





Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here